Nov 20, 2019

पी.एस.एल.वी.-सी47 / कार्टोसैट-3 मिशन

भारत का ध्रुवीय उपग्रह प्रमोचक रॉकेट, पी.एस.एल.वी.-सी47, सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एस.डी.एस.सी.) शार, श्रीहरिकोटा से सूर्य तुल्‍यकाली कक्षा में कार्टोसैट-3 तथा 13 वाणिज्यिक नैनो उपग्रह प्रमोचित करेगा। मौसम की परिस्थितियों के अनुसार, यह प्रमोचन 25 नवंबर 2019 को   भा.मा.स. अनुसार 0928 बजे  अनं‍तिम रूप से निर्धारित है।

पी.एस.एल.वी.-सी47 ‘एक्‍स.एल.’ संरूपण (6 ठोस स्‍ट्रैप-ऑन मोटरों के साथ) में पी.एस.एल.वी. की 21वीं उड़ान है। एस.डी.एस.सी. शार, श्रीहरिकोटा से यह 74वां प्रमोचन रॉकेट मिशन होगा।

उच्‍च विभेदन प्रतिबिंबन क्षमता वाला कार्टोसैट-3 उपग्रह तीसरी पीढ़ी का दक्ष उन्‍नत उपग्रह है। उपग्रह को 97.5 डिग्री की झुकाव पर 509 कि.मी. की कक्षा में स्‍थापित किया जाएगा।

पी.एस.एल.वी.-सी47 न्‍यू स्‍पेस इंडिया लिमिटेड (एन.एस.आई.एल.), अंतरिक्ष विभाग के साथ वाणिज्यिक व्‍यवस्‍था के एक भाग के तौर पर संयुक्‍त राष्‍ट्र अमेरिका के 13 वाणिज्यिक लघु उपग्रहों को भी साथ ले जाएगा।