एल.वी.एम.3-एक्‍स/सी.ए.आर.ई. मिशन

भारत की अत्‍याधुनिक पीढ़ी के प्रमोचक राकेट एल.वी.एम.3 की पहली परीक्षणात्‍मक उपकक्षीय उड़ान एल.वी.एम.3-एक्‍स/सी.ए.आर.ई. मिशन ने 18 दिसंबर 2014 को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र शार, श्रीहरिकोटा से उड़ान भरा तथा कर्मीदल माड्यूल सी.ए.आर.ई. को 126 कि.मी. की तुंगता पर अंत:क्षेपित किया। कर्मीदल माड्यूल उड़ान भरने के लगभग 20 मिनट बाद बंगाल की खाड़ी में अंडमान निकोबार द्वीपसमूह के पास गिरा। कर्मीदल माड्यूल को भारतीय तटरक्षकों द्वारा वापस प्राप्‍त किया गया। एल.वी.एम.3 की इस उड़ान में एक निष्क्रिय निम्‍नतापीय चरण था।

LVM3 प्रमोचक के बारे में और अधिक पढ़ें

लक्ष्‍य

  • एल.वी.एम.3 के जटिल वायुमंडलीय उड़ान क्षेत्र का उड़ान वैधीकरण
  • नवीन डिजाइन विशेषताओं का वैधीकरण
  • मिशन डिजाइन, अनुकार तथा सॉफ्टवेअर कार्यान्‍यवन का संपूर्ण समेकन
  • कर्मीदल माड्यूल सी.ए.आर.ई. की पुन: प्रवेश विशेषताओं का अध्‍ययन

उड़ान प्रोफाइल

जी.एस.एल.वी. मार्कIII