अप्रैल 15, 2010

जीएसएलवी-डी3

जीएसएलवी-डी3, इसरो के भू-तुल्यकाली उपग्रह प्रमोचन यान(जीएसएलवी)की छठी उड़ान और साथ ही तीसरी विकासात्मक उड़ान थी।इस उड़ान में जीएसएलवी को 2220 किलो के एक प्रयोगात्मक उन्नत प्रौद्योगिकी संचार उपग्रह जीसैट-4 का प्रमोचन करना था। जीएसएलवी-डी3, जीएसएलवी की पहली उड़ान थी जिसमें स्वदेशी निम्नतापीय ऊपरी चरण (सीयूएस) का उपयोग किया गया था।

जीएसएलवी-डी3 को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र शार,श्रीहरिकोटा के द्वितीय प्रमोचन पैड (एसएलपी)से 15 अप्रैल 2010 को प्रमोचित किया गया।स्वदेशी क्रायोजेनिक चरण की परीक्षण उड़ान असफल रही।

जीएसएलवी-डी3 चरण की एक झलक
प्राचल
जीएस 1 (प्रथम चरण)
जीएस 2 (द्वितीय चरण)
(एल37.5एच)
जीएस3 (तृतीय चरण) (सीयूएस12)
एस139 बूस्टर
एल40एच स्ट्रैप-ऑन
लंबाई (मी.)
20.13
19.7
11.56
8.7
व्यास (मी.)
2.8
2.1
2.8
2.8
नोदक द्रव्यमान (ट)
138.25
42.67
39.42
12.85
आवरण / टंकी सामग्री
मैरेजिंग स्टील
एल्यूमीनियम मिश्रधातु
एल्यूमीनियम मिश्रधातु
एल्यूमीनियम मिश्रधातु
नोदक
एचटीपीबी
यूएच25 और एन24
यूएच25 और एन24
एलएच2 और एलओएक्स
ज्वलन समय (से.)
109.8(क्रिया समय)
149.3
(स्थिर दशा समय)
136
(स्थिर दशा समय)
714.4
(प्रज्वलन से बंद करने तक)
अधिकतम निर्वात प्रणोद (के एन)

4707

763
799
73.5 (सामान्य)
82.0 (संवर्धित)
नियंत्रण प्रणाली
 
इंजन गिम्बलीकरण-एकल तल
इंजन गिम्बलीकरण-अक्षनमन और पार्श्वर्तन नियंत्रण के लिए दो तल, लोटन नियंत्रण के लिए तप्त गैस अभिक्रिया नियंत्रण प्रणाली (आरसीएस)
थ्रस्ट चरण नियंत्रण के लिए 2 वर्नियर इंजन और लागत चरण नियंत्रण के लिए शीत गैस आरसीएस