फ़रवरी 26, 2020

जी.एस.एल.वी.-एफ10/जी.आई.सैट-1

सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र शार से 05 मार्च 2020 को जी.एस.एल.वी.-एफ10 द्वारा जी.आई.सैट-1 का प्रमोचन निर्धारित

सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एस.डी.एस.सी.) शार, श्रीहरिकोटा के द्वितीय प्रमोचन पैड से भूतुल्‍यकाली उपग्रह प्रमोचक रॉकेट (जी.एस.एल.वी.-एफ10) द्वारा भू-प्रतिबिंबन उपग्रह (जी.आई.सैट-1) का प्रमोचन किया जाएगा। यह प्रमोचन 05 मार्च 2020 को 1743 बजे (भा.मा.स.) अस्‍थायी रूप से निर्धारित है, जोकि मौसम की परिस्थितियों पर निर्भर है।

जी.आई.सैट-1 का वजन लगभग 2275 कि.ग्रा. है और यह एक अत्याधुनिक दक्ष भू-प्रेक्षण उपग्रह है, जिसे जी.एस.एल.वी.-एफ10 द्वारा भूतुल्‍यकाली अंतरण कक्षा में स्‍थापित किया जाएगा। तदनंतर, उस में लगी नोदन प्रणाली का उपयोग करते हुए यह उपग्रह अंतिम भूस्थिर कक्षा में पहुंच जाएगा।

इस जी.एस.एल.वी. उड़ान में पहली बार 4 मीटर व्‍यास के तोरण आकार के नीतभार फेयरिंग की उड़ान भरी जा रही है। जी.एस.एल.वी. की यह चौदहवीं उड़ान है।

भूतुल्‍यकाली कक्षा से प्रचालनरत जी.आई.सैट-1 निरंतर अंतरालों में मेघ मुक्‍त परिस्थितियों के अंतर्गत भारतीय उप महाद्वीप के निकट वास्‍तविक समय के प्रेक्षण में सहायता प्रदान करेगा।