National Emblem
ISRO Logo

अंतरिक्ष विभाग
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन

लोक सूचना : सावधान : नौकरी पाने के इच्छुक उम्मीदवार

यू.आर.राव उपग्रह केंद्र (यू.आर.एस.सी), अं‍तरिक्ष विभाग, इसरो, बेंगलूरु में प्रतिनियुक्ति के आधार पर वेतन मैट्रिक्‍स (7वां केंद्रीय वेतन आयोग) के स्‍तर 14 में नियंत्रक के पद की भर्ती (आवेदन की अंतिम तिथि है: 15/11/2021)
चंद्रयान-2 विज्ञान आंकड़ा उपयोगीता के लिए अवसर की घोषणा। प्रस्ताव प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि 31 अक्तूबर 2021 है।
वर्तमान ई-प्रापण साइट का नई वेबसाइट में रूपांतरण करना प्रस्तावित है। सभी पंजीकृत/नये विक्रेताओं से नई वेबसाइट https://eproc.isro.in का अवलोकन करने तथा इसरो केंद्रों के साथ भाग लेने के लिए अपने प्रत्यय-पत्र का वैधीकरण करने का अनुरोध किया जाता है।
मई 05, 2017

जीएसएलवी-एफ 09 / जीसैट -9

जीएसएलवी-एफ09 ने 2230 किलो दक्षिण एशिया उपग्रह, जीसैट-9 को भूतुल्यकाली स्थाणांतरण कक्षा (जीटीओ) में प्रमोचन किया। जीएसएलवी-एफ 09 मिशन भारत के भूतुल्यकाली उपग्रह प्रमोचन वाहन (जीएसएलवी) की ग्यारहवीं उड़ान और स्वदेशी क्रायोजेनिक ऊपरी चरण (सीयूएस) के साथ चौथी लगातार उड़ान है। वाहन को 2- 2.5 टन वर्ग उपग्रहों को जीटीओ में अंतक्षेपित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। जीएसएलवी-एफ 09 की कुल लंबाई 49.1 मीटर है । जीएसएलवी-एफ 09 को 05 मई 2017 को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र, शार (एसडीएससी शार), श्रीहरिकोटा, भारत के अंतरिक्ष स्पेसपोर्ट के दूसरे प्रमोचन पैड (एसएलपी) से प्रमोचित किया गया था।

जीएसएलवी-एफ 09 सीयूएस सहित वाहन विन्यास क्रमशः जनवरी 2014, अगस्त 2015 और सितंबर 2016 में पिछले तीन अभियानों - जीएसएलवी-डी5, डी6 और एफ05 के दौरान किए सफलतापूर्वक उड़ानो के समान है। जीएसएलवी-डी5 और डी6 ने सफलतापूर्वक दो संचार उपग्रहों -जीसैट-14 और जीसैट-6 को सफलतापूर्वक स्थापित किया, जबकि जीएसएलवी-एफ 05 ने जीटीओ में भारत के मौसम उपग्रह इन्सैट-डीडीआर को निर्धारित कक्षा में स्थापित किया था ।

एस-बैंड दूरमिति और सी-बैंड ट्रांसपोंडर जीएसएलवी-एफ 09 निष्पादन मॉनिटरन, ट्रैकिंग, रेंज सुरक्षा/फ्लाइट सुरक्षा और प्रारंभिक कक्षा निर्धारण (पीओडी) के लिए सक्षम हैं।