अगस्त 10, 1979

एसएलवी-3E1

रोहिणी प्रौद्योगिकी पेलोड को वहन करने वाले एसएलवी -3 की पहली प्रायोगिक उड़ान, 10 अगस्त, 1979 को किया गया था, केवल आंशिक रूप से सफल रहा था।