जून 05, 2017

जीसैट -19

जीसैट -19 उपग्रह का उत्थापन द्रव्यमान 3136 किलोग्राम के साथ, भारत का संचार उपग्रह है, जो इसरो के मानक आई-3के बस पर संरूपण किया गया है।

जीसैट -19 का/कू-बैंड उच्च प्रवाह क्षमता संचार प्रेषानुकर का वहन करता है। इसके अलावा, यह भूस्थिर रेडिएशन स्पेक्ट्रोमापी (जीआरएसपी) पेलोड को उपग्रहों आरोपित कणों की प्रकृति और और उनके इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों पर अंतरिक्ष विकिरण के प्रभाव के मानीटरन और अध्ययन करने के लिए वहन करता है। जीसैट-19 में कुछ उन्नत अंतरिक्ष यान प्रौद्योगिकियां भी शामिल हैं जिनमें लघु ताप पाइप, फाइबर प्रकाशिकी जाइरो, सूक्ष्म इलेक्ट्रो-मैकेनिकल प्रणाली (एमईएमएस), एक्सीलरोमीटर, कू-बैंड टीटीसी ट्रांसपोंडर और साथ ही स्वदेशी लिथियम आयन बैटरी शामिल है।

जीएसएलवी एमके।।।-डी 1/जीसैट -19 मिशन का प्रमोचन 5 जून, 2017 को 17:28 बजे (IST) एसडीएससी शार, श्रीहरिकोटा के दूसरे लॉन्च पैड से किया जाएगा ।

प्रमोचन भार / Launch Mass: 
3136 किग्रा
प्रमोचक राकेट / Launch Vehicle: 
जीएसएलवी एमके III-डी 1 / जीसैट -19 मिशन
उपग्रह का प्रकार / Type of Satellite: 
संचार
निर्माता / Manufacturer: 
इसरो
स्‍वामी / Owner: 
इसरो
अनुप्रयोग / Application: 
संचार
कक्षा का प्रकार / Orbit Type: 
GSO