National Emblem
ISRO Logo

अंतरिक्ष विभाग
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन

लोक सूचना : सावधान : नौकरी पाने के इच्छुक उम्मीदवार

यू.आर.राव उपग्रह केंद्र (यू.आर.एस.सी), अं‍तरिक्ष विभाग, इसरो, बेंगलूरु में प्रतिनियुक्ति के आधार पर वेतन मैट्रिक्‍स (7वां केंद्रीय वेतन आयोग) के स्‍तर 14 में नियंत्रक के पद की भर्ती (आवेदन की अंतिम तिथि है: 15/11/2021)
चंद्रयान-2 विज्ञान आंकड़ा उपयोगीता के लिए अवसर की घोषणा। प्रस्ताव प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि 31 अक्तूबर 2021 है।
वर्तमान ई-प्रापण साइट का नई वेबसाइट में रूपांतरण करना प्रस्तावित है। सभी पंजीकृत/नये विक्रेताओं से नई वेबसाइट https://eproc.isro.in का अवलोकन करने तथा इसरो केंद्रों के साथ भाग लेने के लिए अपने प्रत्यय-पत्र का वैधीकरण करने का अनुरोध किया जाता है।
दिसम्बर 07, 2014

जीसैट-16

इन्सैट-जीसैट प्रणाली में शामिल जीसैट-16 उन्नत संचार उपग्रह है जिसका उत्थापन के समय दृव्यमान 3181.6 कि.ग्रा. था। जीसैट-16 को कुल 48 संचार प्रेषानुकरों को वाहित करने के लिए संरूपित किया गया, यह इसरो द्वारा अब तक विकसित उपग्रहों में लगे सामान्य सी-बैंड, उच्च विस्तारित सी-बैंड. तथा कू-बैंड प्रेषानुकरों की सर्वाधिक संख्या है। भू-एन्टेनाओं को उपग्रह की दिशा में अचूक इंगित करने के लिए जीसैट-16 में एक कू-बैंड बीकन भी लगा है।

जीसैट-16 का कक्षा में निर्दिष्ट प्रचालन जीवनकान 12 वर्ष है। जीसैट-16 पर लगे प्रेषानुकर मिलकर इन्सैट-जीसैट प्रणाली द्वारा उपलब्ध कराई जा रही विविध सेवाओं की निरंतरता सुनिश्चित करने के अलावा किसी आकस्मिक आवश्यक्ता के लिए अतिरिक्त प्रेषानुकर का कार्य अथवा इन सेवाओं में वृद्धि करते हैं।

कोरू, फैंच गुआना से जीसैट-16 को एरियन-5 वीए-221 द्वारा जीसैट-16 को भू-तुल्यकाली अन्तरण कक्षा (जीटीओ) में प्रक्षेपित किया गया। भू-तुल्यकाली अन्तरण कक्षा (जीटीओ) में अंतःक्षेपण के पश्चात हासन स्थित मास्टर नियंत्रण सुविधा (एमसीएफ) द्वारा उपग्रह का नियंत्रण लिया गया और उसमें लगी तरल अपोजी मोटर (एलएएम) का प्रयोग कर कक्षा वृद्धि के लिए आरंभिक युक्ति संचालन कर उसे वृत्ताकार भू-तुल्यकाली कक्षा के निकट स्थापित किया गया। तत्पश्चात सौर पैनल, एन्टेना जैसे संलग्न घटकों को प्रस्तारित कर उपग्रह का त्रि-अक्षीय स्थिरीकरण किया गया। जीसैट-16 को 55 डिग्री पूर्व देशांतर पर भू-तुल्यकाली कक्षा में जीसैट-8, आईआरएनएसएस-1ए तथा आईआरएनएसएस-1बी के साथ अवस्थित किया गया है।

जीसैट-16 में लगे नीतभार

  • भारतीय मुख्य भूमि तथा अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह को आवृत्त करने के लिए 36 मेगाहर्टज प्रयोज्य बैंडविस्तार क्षमतायुक्त 12 कू-बैंड प्रेषानुकर
  • भारतीय मुख्य भूमि तथा द्वीप समूहों को आवृत्त करने के लिए 36 मेगाहर्टज प्रयोज्य बैंडविस्तार क्षमतायुक्त 24 सी-बैंड प्रेषानुकर
  • भारतीय मुख्य भूमि तथा द्वीप समूहों को आवृत्त करने के लिए 36 मेगाहर्टज प्रयोज्य बैंडविस्तार क्षमतायुक्त 12 उपरि-विस्तारित सी-बैंड प्रेषानुकर

 

प्रमोचन भार / Launch Mass: 
3181.6 किग्रा
आयाम / Dimension: 
2.0 m x 1.77 m x 3.1 m cuboid
मिशन कालावधि / Mission Life : 
12 वर्ष
शक्ति / Power: 
6000 वाट प्रदान करते हुए सौर व्यूह एवं दो 180 ए.एच. लीथियम ऑयन बैटरियां
एरियन-5 वी.ए.-221
उपग्रह का प्रकार / Type of Satellite: 
संचार
निर्माता / Manufacturer: 
इसरो
स्‍वामी / Owner: 
इसरो
अनुप्रयोग / Application: 
संचार
कक्षा का प्रकार / Orbit Type: 
GSO