नवंबर 11, 2015

जीसैट-15

भारत का उन्‍नत संचार उपग्रह जीसैट-15 एक उच्‍च ऊर्जा उपग्रह है जिसे इन्‍सैट/जीसैट प्रणाली में शामिल किया गया है। उत्‍थापन के समय, 3164 भार वाले जीसैट-15, के.यू. बैण्‍ड तथा एल1 तथा एल5 बैण्‍डों में प्रचालनरत जी.पी.एस. समर्थित जी.ई.ओ. संवर्धित नौवहन (गगन) नीतभार में कुल 24 संचार प्रेषानुकरों को साथ ले गया है। जीसैट-15, जीसैट-8 तथा जीसैट-10 के बाद गगन नीतभार को ले जाने वाला तीसरा उपग्रह है, जोकि पहले से ही कक्षा से नौवहन सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। जीसैट-15 के.यू. बैण्‍ड बीकन साथ ले गया है, जिससे उपग्रह की ओर सही ढ़ंग से भू ऐंटेना को इंगित करने में सहायता मिलेगी।

जीसैट-15 को 11 नवंबर, 2015 तड़के कौरु, फ्रेंच गियाना से ऐरियन-5वी.ए.-227 प्रमोचक राकेट द्वारा प्रमोचित किया गया। 

 

    

मिशन

संचार और उपग्रह नौवहन 

भार

3164 कि.ग्रा. (उत्‍थापन के समय द्रव्‍यमान

1440 कि.ग्रा. (शुष्‍क द्रव्‍यमान)

ऊर्जा

6200 वॉट प्रदान करने वाला सौर व्‍यूह तथा तीन 100ए.एच. लिथियम-आयन बैटरियां

नोदन 

द्वि-नोदक प्रणाली 

प्रमोचन तिथि 

11 नवंबर, 2015

प्रमोचन स्‍थल 

कौरु, फ्रेंच गियाना 

प्रमोचक राकेट 

ऐरियन-5वी.ए.-227

कक्षा 

भूस्थिर (93.5° पूर्व देशांतर)

इन्‍सैट-3ए तथा इन्‍सैट-4बी के साथ सह-स्थित 

मिशन कालावधि 

12 वर्ष 

 

प्रमोचन भार / Launch Mass: 
3164 किग्रा
मिशन कालावधि / Mission Life : 
12 वर्ष
शक्ति / Power: 
6200 वाट प्रदान करते हुए सौर व्यूह एवं तीन 100 ए.एच. लीथियम ऑयन बैटरियां
उपग्रह का प्रकार / Type of Satellite: 
संचार
निर्माता / Manufacturer: 
इसरो
स्‍वामी / Owner: 
इसरो
कक्षा का प्रकार / Orbit Type: 
GSO