सीई20 इंजन का उच्च ऊंचाई उड़ान स्वीकृति परीक्षण सफलतापूर्वक आयोजित

जीएसएलवी एमके III, भू अंतरण कक्षा (जीटीओ) में 4 टन वर्ग के अंतरिक्ष यान को प्रमोचित करने के लिए सक्षम, इसरो का भविष्य का प्रक्षेपण यान, निर्माण के उन्नत चरण में है। इसमें दो ठोस स्ट्रैप-ऑन (एस200) मोटर, एक भू संग्रहणीय तरल कोर चरण (एल110) और देश में ही विकसित सी25 क्रायोजेनिक चरण हैं। सी25 चरण सीई20 क्रायोजेनिक इंजन द्वारा यंत्रचालित है। प्रथम सीई20 का उड़ान इंजन स्वीकृति परीक्षण सफलतापूर्वक दिसंबर 2016 के दौरान उच्च ऊंचाई अनुकरण परीक्षण सुविधा में 25से. की अवधि के लिए आयोजित किया गया । यह उड़ान स्वीकृति इसरो के लिए एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है, क्योंकि प्रथम प्रयास में प्रमुख इंजन के विकास के प्रयासों में सफलता मिली है। इस इंजन की संकल्पना, विन्यास, संरूपण और विकास द्रव नोदन प्रणाली केंद्र (LPSC) द्वारा किया गया है।

एलपीएससी केंद्र डिजाइन, विकास और इसरो के प्रक्षेपण वाहन के लिए तरल प्रणोदन चरणों की प्राप्ति के लिए है। एलपीएससी के दायरे में तरल पदार्थ नियंत्रण वाल्व, ट्रान्सड्यूसर, निर्वात स्थिति में नोदन प्रबंधन और द्रव नोदन प्रणाली प्रमुख घटक हैं।

उड़ान समान परिस्थितियों में इंजन का परीक्षण करने के लिए, उच्च ऊंचाई परीक्षण(एचएटी) सुविधा को आईपीआरसी, महेंद्रगिरि में स्थापित किया गया था। यह सुविधा निर्वात स्थिति में पूर्ण क्षेत्र अनुपात में सीई20 इंजन परीक्षण सुविधा प्रदान करती है अन्यथा समुद्र के सतह पर परिवेश दाब प्रवाह पृथकरण का अनुभव होता है।

उच्च ऊंचाई की स्थिति में इंजन के सफल परीक्षण से पहले अलग-अलग दो इंजन पर कई परीक्षण समुद्र सतह से नोजल अपसारी (क्षेत्र अनुपात 10) के साथ किए गए थे। इन इंजनों पर आयोजित विकास परीक्षण ने इसके डिजाइन में आत्मविश्वास प्रदान किया है। उड़ान नोजल के डिजाइन का भी मध्यम अवधि तक उच्च ऊंचाई परीक्षण कार्यक्रम में मान्य किया गया था।

इंजन उच्च ऊंचाई परीक्षण कार्यक्रम में उच्च ऊंचाई परीक्षणों की श्रृंखला (41.20से. की संचयी अवधि के साथ 5 तप्त परीक्षण) निर्वात प्रज्वलन प्रदर्शित करने के लिए, नोजल निष्पादन को मान्य, प्रणोदक प्रवाह वृद्धि विशिष्टता, शीतलन निष्पादन और प्रज्वलन मार्जिन प्रदर्शित करना निहित है। इस परीक्षण कार्यक्रम में सभी परीक्षण उद्देश्यों को सफलतापूर्वक प्राप्त किया गया। एचएटी सुविधा में इंजन का परीक्षण उड़ान में भी इंजन को शुरू और बंद करने को अंतिम रूप देने में मदद किया है । संक्षेप में, परीक्षण कार्यक्रम प्रदर्शन और जीएसएलवी एमके III में सीई20 इंजन (एलवीएम3)-डी1 मिशन के कामकाज ने दृढ आत्मविश्वास प्रदान किया है।

जीएसएलवी एमके III (एलवीएम3) -डी1 मिशन का कार्य प्रगति पर है उड़ान चरण की प्राप्ति और पहला मिशन 2017 में प्रारंभ तक होने की उम्मीद है।

जीएसएलवी एमके III (एलवीएम3) -डी1 मिशन के लिए सीई20 उड़ान इंजन

जीएसएलवी एमके III (एलवीएम3) -डी1 मिशन के लिए सीई20 उड़ान इंजन

 

एचएटी सुविधा के साथ सीई20 इंजन अंतरापृष्ठ

एचएटी सुविधा के साथ सीई20 इंजन अंतरापृष्ठ