रेडियो नेटवर्किंग

इन्‍सैट द्वारा रेडियो नेटवर्किंग से राष्‍ट्रीय व क्षेत्रीय नेटवर्कों में विश्‍वसनीय उच्‍च तद्रूपता (हाईफाई) कायर्क्रम चैनल उपलब्‍ध कराने के मदद मि‍लती है इस समय 326 आकावाणी केन्द्रो पर ग्राही टर्मिनल लगाए गए हैं।

इस समय कुल 85 आरएन चैनल अपलिंक किए जा रहे हैं। इसके लिए आकाशवाणी द्वारा द्वारा इन्‍सैट-3सी के एक सी बैंड ट्रांसपोंडर (सी-11) का प्रयोग कि‍या जा रहा है। इन्‍सैट-3सी के ट्रांसपोंडरों का सम्‍पूर्ण उपयोग करने के लि‍ए बारहवीं पंचवर्षीय योजना के अंत तक कुल 90 सीxसी  बैंड संवाहकों (कैरि‍यरों) के प्रयोग का वि‍चार है।

आकाशवाणी नेटवर्क में कुल 32 भूकेन्‍द्रों पर सीxसी बैड अपलिंक की सुविधा उपलब्‍ध कराई गई है। प्रसारण भवन, नई दिल्ली स्थित केन्द्रीय भू-केन्द्र पर सीxसी बैंड में 26 आरएल वाहकों को अपलिंक करने के लिए संवर्धित किया गया है।

इस समय टोहापुर नई दिल्‍ली से डीटीएच प्लेटफॉर्म पर टीवी संवाहकों द्वारा आकाशवाणी के 21 रेडियो चैनल कू-बैंड में इन्‍सैट-4बी को अपलिंक हो रहे है। बारहवीं पंचवर्षीय योजना के दौरान इसे 40 चैनलों तक बढ़ाने तथा अंडमान तथा निकोबार क्षेत्र को आवृत करने के लिए डीटीएच सी बैंड पर 6 रेडियो चैनलों को अपलिंक करने का काम प्रगति पर है।