प्रोफ़ेसर एम.जी.के. मेनन (जन.-सित. 1972)

 

प्रोफ़ेसर एम.जी.के. मेनन

 

प्रोफ़ेसर एम.जी.के. मेनन अंतरिक्ष विभाग/भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के वर्तमान परामर्शदाता हैं।

 

वे भारतीय सांख्यिकीय संस्थान, कोलकाता के अध्यक्ष हैं (1990-)।

 

प्रोफ़ेसर मेनन ने 1953 में ब्रिस्टोल विश्वविद्यालय, यू.के. से पी.एच.डी की उपाधि ग्रहण की। उन्हें भारत और विदेशों से असंख्य मानद डॉक्टरेट उपाधि हासिल हुए हैं।

 

प्रोफ़ेसर मेनन भारत में सभी तीनों विज्ञान अकादमियों के फ़ेलो हैं; और वे प्रत्येक के अध्यक्ष रह चुके हैं।

 

प्रोफ़ेसर मेनन ने ब्रह्मांडीय ब्रह्मांडी किरणों के अध्ययन के क्षेत्र में अन्वेषण और विशेषकर प्राथमिक कणों की उच्च ऊर्जा परस्पर क्रिया के लिए विख्यात हैं। किरणों, कण भौतिकी में वैज्ञानिक कार्य किया है।

 

प्रोफ़ेसर एम.जी.के. मेनन

 
शिक्षा
जसवंत कॉलेज, जोधपुर, भारत से विज्ञान स्नातक (1946),
रॉयल इन्स्टिट्यूट ऑफ़ साइंस, भारत से एम.एस.सी. (1949),
ब्रिस्टोल विश्वविद्यालय, यू.के. से पी.एच.डी (1960),
पोस्ट डॉक्टोरल रिसर्च (1955),
 
जन्म दिनांक
28 अगस्त, 1928, मंगलूर, कर्नाटक, भारत
 
राष्ट्रीय मान्यता:
1961 में पद्मश्री
1968 में पद्मभूषण
1985 में पद्मविभूषण
 
शिक्षावृत्तियाँ:
भारत की सभी तीन विज्ञान अकादमियों के फ़ेलो
रॉयल सोसाइटी, लंदन के फ़ेलो (1970)
द इन्स्टिट्यूट ऑफ़ फ़िज़िक्स, यू.के. के मानद फ़ेलो (1997)
थर्ड वर्ल्ड अकाडेमी ऑफ़ साइंसस के संस्थापक फ़ेलो।
 
धारित पद
भारत की सभी तीनों विज्ञान अकादमियों के अध्यक्ष
टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ फंडमेंटल रिसर्च, मुंबई के निदेशक (1966-1975)
अध्यक्ष, ऊर्जा के अतिरिक्त स्रोत आयोग,
12 वर्षों के लिए भारत सरकार के सचिव (इलेक्ट्रानिक्स, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, रक्षा अनुसंधान, पर्यावरण) (1971-1982)
अध्यक्ष, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (1972),
रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (1974-78)
वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद के महा निदेशक (1978-1981)
भारतीय विज्ञान कांग्रेस संघ के अध्यक्ष (1981-82)
अमेरिकी कला और विज्ञान अकादमी और रूसी विज्ञान अकादमी के मानद विदेशी सदस्य
इलेक्ट्रिकल और इंजीनियरी इंजीनियर्स संस्थान के मानद सदस्य, पांटिफ़िकल अकाडेमी ऑफ़ साइंसस, रोम के सदस्य (1981)
मंत्री-मंडल की विज्ञान सलाहकार समिति के अध्यक्ष (1982-1985)
राज्य मंत्री के दर्जे के साथ योजना आयोग के सदस्य (1982-1989)
प्रधान मंत्री के वैज्ञानिक सलाहकार (1986-1989)
वैज्ञानिक संगठनों के अंतर्राष्ट्रीय परिषद के अध्यक्ष (1988-93)
विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री, साथ ही भारत सरकार के शिक्षा विभाग के लिए भी
उपाध्यक्ष, वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) (1989-1990)
1990-96 के दौरान संसद सदस्य (राज्य सभा)
 
व्यावसायिक गतिविधियाँ
ब्रह्मांडीय किरणें, कण भौतिकी में वैज्ञानिक कार्य।
ब्रह्मांडी किरणों के अध्ययन के क्षेत्र में अन्वेषण और विशेषकर प्राथमिक कणों की उच्च ऊर्जा परस्पर क्रिया में विशेषज्ञ।
 

प्रोफ़ेसर एम.जी.के. मेनन

 
पुरस्कार
पद्मश्री 1961
पद्मभूषण 1968
पद्मविभूषण 1985
भटनागर पुरस्कार 1960
आइएससीए चटर्जी पुरस्कार 1984
ओमप्रकाश भासिन पुरस्कार 1985
शिरोमणि पुरस्कार 1988
मोदी विज्ञान पुरस्कार 1994
अब्बास सलीम पदक 1996
 
सम्मान
निम्नलिखित विश्वविद्यालयों से डी.एस.सी. (ऑनर्स कॉसा) :
दिल्ली, इलाहाबाद, रूरकी, बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय, उत्कल, अलीगढ़ मुस्लिम, उत्तरी बंगाल विश्वविद्यालय, आईआईटी मद्रास और खड्गपुर