प्रोफ़ेसर उडुपी रामचंद्र राव (1984-1994)

 

प्रोफ़ेसर उडुपी रामचंद्र राव

 

प्रोफ़ेसर यू.आर.राव एक अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त अंतरिक्ष वैज्ञानिक हैं, जिन्होंने भारत में अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के विकास और संचार तथा प्राकृतिक संसाधनों के सुदूर संवेदनों में उनके व्यापक उपयोग की दिशा में मौलिक योगदान दिया है।

संप्रति वे अहमदाबाद स्थित भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला की शासी परिषद के अध्यक्ष हैं। एमआईटी में संकाय सदस्य और टेक्सास विश्वविद्यालय, डलास में सहायक प्रोफ़ेसर के रूप में कार्य करने के बाद, जहाँ उन्होंने कई अग्रणी और अन्वेषण अंतरिक्षयानों पर प्रमुख प्रयोगकर्ता के रूप में खोज की, प्रोफ़ेसर राव 1966 में भारत लौटे और भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला, अहमदाबाद में प्रोफ़ेसर का पद सँभाला।

तेजी से विकास के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी की अनिवार्य आवश्यकता से आश्वस्त, प्रोफ़ेसर राव ने 1972 में भारत में अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी की स्थापना की जिम्मेदारी ली। उनके मार्गनिर्देशन के तहत, 1975 में प्रथम भारतीय उपग्रह 'आर्यभट्ट' से शुरूआत करते हुए संचार, सुदूर संवेदन और मौसमविज्ञानीय सेवाएँ प्रदान करने के लिए 18 से अधिक उपग्रह अभिकल्पित और प्रमोचित किए गए।

1984 में अंतरिक्ष आयोग के अध्यक्ष और अंतरिक्ष विभाग के सचिव के रूप में पदभार सँभालने के बाद, प्रोफ़ेसर राव ने रॉकेट प्रौद्योगिकी के विकास को गति दी, जिसके परिणामस्वरूप एएसएलवी रॉकेट और ध्रुवीय कक्षा में 2.0 टन वर्ग के उपग्रहों को प्रमोचित करने में सक्षम, संक्रियात्मक पीएसएलवी प्रमोचन यानों का सफल प्रमोचन क्रियान्वित हुआ। प्रोफ़ेसर राव ने 1991 में भू-स्थिर प्रमोचन यान जीएसएलवी और क्रायोजनिक प्रौद्योगिकी के विकास को प्रवर्तित किया।

प्रोफ़ेसर राव ने ब्रम्हांडीय किरणें, अंतर-ग्रहीय भौतिकी, उच्च ऊर्जा खगोल-विज्ञान, अंतरिक्ष उपयोग और उपग्रह तथा रॉकेट प्रौद्योगिकी पर 350 से अधिक वैज्ञानिक और तकनीकी आलेख प्रकाशित किया है और कई पुस्तकें लिखी हैं। उन्होंने यूरोप के सबसे पुराने विश्वविद्यालय, यूनिवर्सिटी ऑफ़ बोलोग्ना सहित लगभग 21 विश्वविद्यालयों से डी.एस.सी. (ऑनोरिस कासा) की उपाधि भी पाई है।

प्रोफ़ेसर उडुपी रामचंद्र राव

 
शिक्षा
मद्रास विश्वविद्यालय, भारत से विज्ञान स्नातक, 1951,
बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय, भारत से एम.एस., 1953,
गुजरात विश्वविद्यालय, भारत से पी.एच.डी. 1960,
 
जन्म दिनांक
10 मार्च 1932, अडमारू, उडुपी, भारत
 
राष्ट्रीय मान्याता
पद्मविभूषण (1976)
 
सम्मान
कन्नड विश्वविद्यालय, हम्पी से डी.लिट. (ऑनरेरी कासा)
निम्न विश्वविद्यालयों से डी.एस.सी. (ऑनरेरी कासा) :
1976, मैसूर, 1976 राहुरी, 1981 कलकत्ता, 1984 मंगलूर,
1992 बनारस, 1992 उदयपुर, 1993 तिरुपति (एस.वी.), 1994 हैदराबाद (जे.एन.)
1994 मद्रास (अन्ना विश्वविद्यालय), 1994 रूड़की विश्वविद्यालय,
1995 पंजाबी विश्वविद्यालय, पटियाला, 1997 श्री शाहुजी महाराज विश्वविद्यालय, कानपुर, 1999 इंडियन स्कूल ऑफ़ माइन्स, धनबाद,
2001 कन्नड विश्वविद्यालय, हम्पी से डी.लिट (ऑनरेरी कासा),
2002 चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ,
2005 यू.पी.टेक्निकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ,
2006 विश्वेश्वरैया टेक्निकल यूनिवर्सिटी, बेलगाम ,
2007 इंडियन इन्स्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नॉलोजी-दिल्ली,
1992 यूनिवर्सिटी ऑफ़ बोलोग्ना (इटली),
 
शिक्षावृत्तियाँ
इंडियन एकाडमी ऑफ़ साइंसस के फ़ेलो
इंडियन नेशनल साइंस एकाडमी के फ़ेलो
राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी के फ़ेलो
थर्ड वर्ल्ड एकाडमी ऑफ़ साइंसस के फ़ेलो
अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्षयानिकी अकादमी के फ़ेलो
भारतीय राष्ट्रीय इंजीनियरिंग अकादमी के फ़ेलो
भारतीय अंतरिक्षयानिकी सोसाइटी के फ़ेलो
अंतरिक्षयानिकी सोसाइटी के सम्मानी सदस्य
इन्स्टिट्यूशन ऑफ़ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्यूनिकेशन इंजीनियर्स के प्रतिष्ठित फ़ेलो
भारतीय राष्ट्रीय कार्टोग्राफ़िक संघ के सम्मानी सदस्य
भारतीय प्रसारण और इंजीनियरिंग सोसाइटी के फ़ेलो
एयरो मेडिकल सोसाइटी ऑफ़ इंडिया के सम्मानी सदस्य
भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला, अहमदाबाद के प्रतिष्ठित फ़ेलो
वर्ल्ड एकाडमी ऑफ़ आर्ट्स एंड साइंसस, यू.एस.ए. के फ़ेलो.
 
धारित पद
1988-अध्यक्ष, पीआरएल काउंसिल, इसरो-डीओएस
2005-अध्यक्ष, कर्नाटक विज्ञान और प्रौद्योगिकी अकादमी
2007-अतिरिक्त निदेशक, भारतीय रिज़र्व बैंक नोट मुद्रण प्रा.लि. बेंगलूर
2007-अध्यक्ष, अंतरिक्ष भौतिकी केंद्र, कोलकाता
2006-2011 कुलपति, बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय, लखनऊ
2006-2010 सदस्य, केंद्रीय निदेशक मंडल, रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया
2007-अध्यक्ष, भारतीय उष्णकटिबंधीय मौसम-विज्ञान संस्थान का शासी परिषद, पुणे
1997- सह-अध्यक्ष, राष्ट्रीय अंटार्कटिक और महासागर अनुसंधान केंद्र, गोआ का शासी परिषद
1984-1994 अध्यक्ष, अंतरिक्ष आयोग/सचिव, अंतरिक्ष विभाग, भारत सरकार और अध्यक्ष भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो), बेंगलूर
1981-2001 सदस्य, अंतरिक्ष आयोग, भारत सरकार
2001-2002 अध्यक्ष, प्रसार भारती मंडल
1997-2001 सदस्य, प्रसार भारती मंडल
1998-2001 सदस्य, राष्ट्रीय सुरक्षा परामर्शी मंडल
1997-2000 अध्यक्ष, बाह्य अंतरिक्ष के शांतिपूर्ण उपयोग पर संयुक्त राष्ट्र समिति (यू.एन.-काप्यूस)
1975-1984 निदेशक, इसरो उपग्रह केंद्र, बेंगलूर
1994-1999 डॉ.विक्रम साराभाई प्रतिष्ठित प्रोफ़ेसर, अंतरिक्ष विभाग
1972-1975 परियोजना निदेशक, भारतीय वैज्ञानिक उपग्रह परियोजना, बेंगलूर
1969-1972 प्रोफ़ेसर, भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला, अहमदाबाद
1966-1969 एसोसिएट प्रोफ़ेसर, भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला, अहमदाबाद
1963-1966 सहायक प्रोफ़ेसर, एस.डब्ल्यू सेंटर फ़ॉर एडवान्स्ट रिसर्च, डलास, टेक्सास
1961-1963 पोस्ट डॉक्टोरल फ़ेलो, एमआईटी, यूएसए
 
अंतर्राष्ट्रीय कार्यक्षेत्र में व्यावसायिक गतिविधियाँ
1986-1992 उपाध्यक्ष, अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्षयानिकी संघ
1988 से अब तक अध्यक्ष, आइएएफ़ के विकासशील राष्ट्रों के साथ संपर्क के लिए समिति (सीएलओडीआईएन)
1997-2000 अध्यक्ष, यू.एन-काप्यूस (बाह्य अंतरिक्ष के शांतिपूर्ण उपयोग पर संयुक्त राष्ट्र समिति)
1999 अध्यक्ष, यूनिस्पेस- III सम्मेलन
2007 अध्यक्ष, 30वीं अंतर्राष्ट्रीय अंटार्कटिक संधि परामर्शदात्री समिति की बैठक
 
अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्षयानिकी संघ कांग्रेस के भाग के रूप में विशेष पूर्ण वर्तमान घटना सत्रों का संपूर्ण आयोजन किया
1987 मानव जाति के लाभार्थ अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का उपयोग, ब्राइटन (आईएएफ़)
1988 बेंगलूर, भारत में अंतरिक्ष और सूखा प्रबंधन (आईएएफ़)
1989 मालागा, स्पेन में अंतरिक्ष और बाढ़ प्रबंधन (आईएएफ़)
1990 ड्रेसडेन, जर्मनी में अंतरिक्ष और वन प्रबंधन (आईएएफ़)
1991 मान्ट्रियाल, कनाडा में अंतरिक्ष और कृषि प्रबंधन (आईएएफ़)
1992 वाशिंगटन, यू.एस.ए. में अंतरिक्ष और विकासशील राष्ट्र (आईएएफ़)
1993 ग्रेज़, ऑस्ट्रिया में अंतरिक्ष और पर्यावरण (आईएएफ़)
1994 जेरूसलेम, इज़राइल में अंतरिक्ष और ग्रामीण विकास (आईएएफ़)
1995 ओस्लो, नार्वे में शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल और पर्यावरण मॉनिटरन के लिए अंतरिक्ष (आईएएफ़)
1996 बीजिंग, चीन में जनसंख्या गतिकी और शहरी पर्यावरण प्रबंधन (आईएएफ़)
1997 टुरिन, इटली में तेजी से विकास के लिए अंतरिक्ष और औद्योगिक साझेदारी (आईएएफ़)
1998 परिवर्ती आर्थिक परिदृश्य में अंतरिक्ष, मेलबोर्न, ऑस्ट्रेलिया (आईएएफ़)
1999 धारणीय आर्थिक विकास के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी, एमस्टरडैम, नीदरलैंड (आईएएफ़)
2000 अगली सहस्राब्दि में अंतरिक्ष – रियो डी जेनेरो, ब्राज़ील में एक उचित गांव की ओर (आईएएफ़)
2001 अंतरिक्ष और सूचना प्रौद्योगिकी – टाउलाउस, फ़्रांस में डिजिटल विभाजन से डिजिटल सेतु तक (आईएएफ़)
2002 निदेशक – पोमोना, कैलिफ़ोर्निया में अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष विश्वविद्यालय हेतु "मानव स्वास्थ्य संवर्धन के लिए अंतरिक्ष" पर ग्रीष्मकालीन डिज़ाइन परियोजना
2002 वैश्विक समस्याओं के लिए अंतरिक्ष समाधान: हूस्टन, यूएसए में मानव सुरक्षा विकास में सभी हितधारकों के साथ साझेदारी निर्माण (आईएएफ़)
2003 ब्रेमेन, जर्मनी में वहन क्षमता में वृद्धि के लिए अंतरिक्ष (आईएएफ़)
2004 वैंकूवर, कनाडा में वैश्विक पैमाने पर राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन (आईएएफ़)
2005 फ़ुकाउका, जापान में धारणीय विकास के लिए अंतरिक्ष शिक्षा और क्षमता निर्माण
2006 वैलेन्शिया, स्पेन में जल संसाधन प्रबंधन के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी का उपयोग (आईएएफ़)
2007 ग़रीबी उन्मूलन के लिए अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी, हैदराबाद, भारत (आईएएफ़)
1979 में विएना में आयोजित यूएनआईएसपीएसीई- III सम्मेलन के अध्यक्ष
1980 से 1994 तक काप्यूस के भारतीय शिष्ट मंडल और एस एंड टी उप-समिति का नेतृत्व किया, यूएनआईएसपीएसीई- II के 1982 में और यूएनआईएसपीएसीई- III के 2000 में अध्यक्ष
बाह्य अंतरिक्ष के शांतिपूर्ण उपयोग पर संयुक्त राष्ट्र समिति के अध्यक्ष (1996-1999)
विभिन्न पत्रिकाओं में लगभग 360 वैज्ञानिक और प्रौद्योगिकी आलेख प्रकाशित
हाल ही में तीन पुस्तकों के लेखक
"पर्स्पेक्टिव इन कम्यूनिकेशन्स" (1987), वर्ल्ड साइंटिफ़िक पब्लि.कं.प्रा.लि.
"स्पेस एंड एजेंडा 21 – केरिंग फ़ॉर प्लैनेट अर्थ" (1995) प्रिज़्म बुक्स प्रा.लि. (बेंगलूर).
"स्पेस टेक्नॉलोजी फ़ॉर सस्टेनेबल डेवलपमेंट" (1996) – टाटा मॅकक्रा हिल पब्लि. नई दिल्ली
 

प्रोफ़ेसर उडुपी रामचंद्र राव

 
पुरस्कार
1976 पद्मभूषण
1973 नासा, संयुक्त राष्ट्र अमेरिका द्वारा ग्रुप अचीवमेंट पुरस्कार
1975 एकाडमी ऑफ़ साइंसस, यू.एस.एस.आर द्वारा मेडल ऑफ़ ऑनर
1975 कर्नाटक राज्योत्सव पुरस्कार
1975 हरि ओम विक्रम साराभाई पुरस्कार
1975 शांति स्वरूप भटनागर पुरस्कार
1980 नेशनल डिज़ाइन पुरस्कार
1980 वास्विक अनुसंधान पुरस्कार
1983 कर्नाटक राज्योत्सव पुरस्कार
1987 पी.सी. महल्नोबिस पदक
1993 मेघनाद साहा पदक
1994 पी.सी. चंद्रा पुरस्कार
1994 इलेक्ट्रॉनिक्स मैन ऑफ़ द इयर पुरस्कार
1995 ओम भासिन पुरस्कार
1995 ज़हीर हुसैन स्मारक पुरस्कार
1995 आर्यभट्ट पुरस्कार
1995 जवाहरलाल नेहरू पुरस्कार
1996 एस.के.मित्र जन्म शताब्दी स्वर्ण पदक
1997 युद्धवीर फ़ाउंडेशन पुरस्कार
1997 विश्वभारती विश्वविद्यालय का रवींद्रनाथ टैगोर पुरस्कार
1999 गूजरमल मोदी साइंस फ़ाउंडेशन पुरस्कार
2001 कन्नड विश्वविद्यालय, हम्पी से नाडोजा पुरस्कार
2001 इंजीनियरिंग ऑफ़ आईएनएई में लाइफ़ टाइम कंट्रीब्यूशन पुरस्कार
2002 सर एम. विश्वेश्वरैया स्मारक पुरस्कार
2003 प्रेस ब्यूरो ऑफ़ इंडिया पुरस्कार
2004 विश्वभारती फ़ाउंडेशन, हैदराबाद से स्टार ऑफ़ इंडिया पुरस्कार
2004 विशेष पुरस्कार 2004, कर्नाटक मीडिया अकादमी
2007 भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन का लाइफ़ टाइम अचीवमेंट अवार्ड
2007 कर्नाटक विज्ञान और प्रौद्योगिकी अकादमी का प्रतिष्ठित वैज्ञानिक स्वर्ण पदक
2007 विश्वमानव पुरस्कार
2008 आईएससीए से 2007-2008 के लिए जवाहरलाल नेहरू जन्म शताब्दी पुरस्कार
2008 ए.वी.रामाराव प्रौद्योगिकी पुरस्कार
अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार
1991 यू.एस.एस.आर. का यूरी गेगरीन पदक
1992 अंतर्राष्ट्रीय सहयोग पर अलान डी एमिल पुरस्कार
1994 फ़्रैंक जे मलिना पुरस्कार (अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्षयानिकी संघ)
1996 कोसपार का विक्रम साराभाई पदक
1997 "स्पेस टेक्नॉलोजी फ़ॉर सस्टेनेबल डेवलपमेंट" पुस्तक के लिए अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्षयानिकी अकादमी से "सर्वोत्कृष्ट पुस्तक पुरस्कार"
2000 आईएसपीआरएस से एडवर्ड डोलेज़ाल पुरस्कार
2004 प्रतिष्ठित अंतरिक्ष पत्रिका, स्पेस न्यूज़ ने प्रोफ़ेसर यू.आर.राव को 10 शीर्ष अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष हस्तियों में एक चुना है, जिन्होंने 1989 से दुनिया में नागरिक, वाणिज्य और रक्षा अंतरिक्ष में पर्याप्त अंतर पैदा किया है।
2005 थियोडोर वॉन कार्मन पुरस्कार, जो कि अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्षयानिकी अकादमी का सर्वोच्च पुरस्कार है।