भारत के रिसैट -1 उच्च विभेदन स्पॉटलाइट (एचआरएस)

आकाशवाणी सुपर पावर ट्रांसमीटर, बेंगलुरु

(पास तिथि: 20 मई 2014, दृश्य कोण: 41.970)

रडार बाएं से दाएं को देख रहा है । प्रक्षेपित टॉवर उज्ज्वल लक्ष्य के रूप में दिख रहा है और इसका नोक जमीन से रडार की तरफ सही स्थिति (जिसे लेवोवर प्रभाव कहा जाता है) में विस्थापित है । टावर की सही स्थिति चित्र में चिह्नित उज्ज्वल क्रॉस के रूप में दिखाई दे रहा है। रडार की छाया को चित्र में भी देखा जा सकता है। टावर की ऊंचाई को प्रतिबिंब से 105 मीटर गिना गया है । यह वास्तविक ऊंचाई के साथ मिलान खाता है ।

हावड़ा ब्रिज, कोलकाता
(पास दिनांक: 2- अप्रैल -2013, दृश्य कोण: 42.940)

 रडार दाएं से बाएं ओर देख रहा है । हावड़ा ब्रिज ब्रैकट पुल है जो कि ध्रुवीकृत रिटर्न के साथ उज्ज्वल लक्ष्य के रूप में दिख रहा है। हुगली नदी बहुत कम वापसी प्रकीर्ण और कुछ अधृवीय वापसी के कारण ब्लैकिश हरे रंग में दिखाई दे रही है।

नम्मा मेट्रो स्टेशन, पीन्या, बेंगलुरु

(पास तिथि: 20 मई 2014, दृश्य कोण: 41.970)

रडार बाएं से दाएं को देख रहा है । मेट्रो स्टेशन का छत फाइबर सामग्री से बना है जिसे धातु सामग्री संरचना द्वारा आधार दिया गया है, जो अजीब बाउंस लक्ष्य के रूप में दिख रहा है। मेट्रो का ऊंचा गलियारा अधृवीय लक्ष्य के रूप में प्रदर्शित हो रहा है।