National Emblem
ISRO Logo

अंतरिक्ष विभाग
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन

लोक सूचना : सावधान : नौकरी पाने के इच्छुक उम्मीदवार

यू.आर.राव उपग्रह केंद्र (यू.आर.एस.सी), अं‍तरिक्ष विभाग, इसरो, बेंगलूरु में प्रतिनियुक्ति के आधार पर वेतन मैट्रिक्‍स (7वां केंद्रीय वेतन आयोग) के स्‍तर 14 में नियंत्रक के पद की भर्ती (आवेदन की अंतिम तिथि है: 15/11/2021)
चंद्रयान-2 विज्ञान आंकड़ा उपयोगीता के लिए अवसर की घोषणा। प्रस्ताव प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि 31 अक्तूबर 2021 है।
वर्तमान ई-प्रापण साइट का नई वेबसाइट में रूपांतरण करना प्रस्तावित है। सभी पंजीकृत/नये विक्रेताओं से नई वेबसाइट https://eproc.isro.in का अवलोकन करने तथा इसरो केंद्रों के साथ भाग लेने के लिए अपने प्रत्यय-पत्र का वैधीकरण करने का अनुरोध किया जाता है।

न्‍यूस्‍पेस इंडिया लिमिटेड (एनसिल)

NSIL
 


न्‍यूस्‍पेस इंडिया लिमिटेड (एनसिल)
इसरो मु. कैंपस,
न्‍यू बी.ई.एल. रोड, बेंगलूरु – 560 231


अध्‍यक्ष सह प्रबंध निदेशक : श्री जी. नारायणन
ई-मेल: [email protected]

 

न्‍यूस्‍पेस इंडिया लिमिटेड (एनसिल) का निगमीकरण 06 मार्च 2019 को (कंपनी अधिनियम, 2013 के तहत) अंतरिक्ष विभाग (अं.वि.) के प्रशासनिक नियंत्रण में भारत सरकार के पूर्ण स्‍वामित्‍व वाली कंपनी के रूप में हुआ है। एनसिल भारतीय अंतरिक्ष्‍ा अनुसंधान संगठन (इसरो) का वाणिज्यिक अंग है। इसका मुख्‍य दायित्‍व भारतीय उद्योगों को उच्‍च प्रौद्योगिकी अंतरिक्ष संबंधित गतिविधियां शुरू करने के लिए सक्रिय बनाना है। साथ ही, यह भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रमों से निर्मित उत्‍पादों तथा सेवाओं के उन्‍नयन तथा वाणिज्यिक उपयोग के लिए भी उत्तरदायी है। एनसिल अपने ग्राहकों की आवश्‍यकताओं का समाधान करने के लिए भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम की प्रमाणित विरासत तथा इसरो की अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी की विभिन्‍न शाखाओं के बृहत् अनुभव पर कार्य करता है।  

एनसिल के मुख्‍य व्‍यापार क्षेत्रों में शामिल हैं:

      क)  उद्योग के माध्‍यम से ध्रुवीय उपग्रह प्रमोचक रॉकेट (पी.एस.एल.वी.) तथा लघु उपग्रह प्रमोचक रॉकेट का उत्‍पादन

     ख)  प्रमोचन सेवाएं तथा प्रेषानुकर पट्टाधारी, सुदूर संवेदन एवं मिशन समर्थन सेवाओं जैसे, अंतरिक्ष आधारित अनुप्रयोगों के साथ अंतरिक्ष आधारित सेवाओं का उत्‍पादन एवं बाजारीकरण

     ग)  प्रयोक्‍ता आवश्‍यकताओं (संचार एवं भू-प्रेक्षण दोनों) के अनुसार उपग्रहों का निर्माण

     घ)  इसरो के केंद्रों/यूनिटों तथा अंतरिक्ष विभाग के संस्‍थापित संस्‍थानों द्वारा विकसि‍त प्रौद्योगिकी का अंतरण

    ङ)  इसरो की गतिविधियों से उत्‍पन्‍न स्पिन ऑफ प्रौद्योगिकि‍यों तथा उत्‍पादों/सेवाओं का बाजारीकरण

    च)  परामर्श सेवाएं