विकास एवं शिक्षा संचार यूनिट (डेकू) अहमदाबाद में डिजिटल इंडिया सप्ताह

1 जुलाई से 7 जुलाई 2015 तक "डिजिटल इंडिया" सप्ताह के रूप में मनाया गया। वैज्ञानिक/तकनीकी 45 स्टाफ संख्या के साथ डेकू में डिजिटल इंडिया समारोह में निम्नलिखित योगदान दिया है:

डेकू ने इन-हाउस संवर्धित वास्तविकता ऐप - साकार विकसित किया है। इस एप्लीकेशन को माननीय डॉ. जितेंद्र सिंह, अंतरिक्ष विभाग के राज्य मंत्री द्वारा नई दिल्ली में इसरो के अध्यक्ष श्री ए.एस.किरण कुमार की मौजूदगी में विमोचन किया गया था और सैक इंटरनेट वेबसाइट से लिंक के साथ इसरो पोर्टल पर अपलोड करने के लिए इसरो मुख्यालय को भेज दिया गया है।

 

साकर के उपयोग पर जागरुकता पैदा करने के लिए, ट्रिगर कार्ड की प्रतिलिपि के साथ ऐप से संबंधित बुनियादी जानकारी पत्रों के माध्यम से अलग से आईसीएसई और सीबीएसई बोर्ड के लगभग 11800 स्कूलों को भेजे गए।

उसे सभी राज्यों के शिक्षा सचिवों (36) को अपने संबंधित राज्यों में सभी स्कूलों में प्रसारित करने के अनुरोध के साथ भेजा गया था।

डिजिटल मीडिया के माध्यम से साकार ऐप की आउटरीच बढ़ाने के लिए विज्ञापन की अवधारणा और समाचार पत्र में प्रकाशित करने के लिए डिज़ाइन किया गया था। इसे आवश्यक कार्रवाई के लिए इसरो मुख्यालय को भेजा गया था ।

श्री एस फनी कुमार द्वारा इसरो के टेलीमेडिसिन नेटवर्क पर निरंतर चिकित्सा शिक्षा (सीएमई) पर सैक और डेकू सहकर्मियों के लिए 7 जुलाई, 2015 को व्याख्यान दिया गया था।

डॉ. अनघा जोप द्वारा "स्तन कैंसर प्रबंधन - बहुआयामी उपचार और ओंकोप्लास्टिक सर्जरी" पर सीएमई व्याख्यान व्याख्यान के तहत डेकू स्टूडियो से प्रसारित किया गया था। वीडियो कवरेज संपादित किया गया था और इसरो पोर्टल पर अपलोड करने के लिए इसरो मुख्यालय को भेजा गया था।

टीडीपी अनुसंधान एवं विकास गतिविधियों के रूप में, डेकू ने इन-हाउस प्रोटोटाइप "छवि-आधारित वीडियो खोज उपकरण" विकसित और विमोचन किया है। किसी संदर्भ छवि को इनपुट के रूप में उपयोग करते हुए, सॉफ्टवेयर टूल वीडियो के विशाल संग्रहालय से समान चित्रों वाले स्रोत वीडियो को खोज और आउटपुट कर सकता है। प्रोटोटाइप संस्करण का उद्घाटन 3 जुलाई, 2015 को हमारे सहयोगियों के लिए डेकू के निदेशक श्री विक्रम देसाई द्वारा किया गया।

डेकू ने एलईडी आधारित प्रोटोटाइप बहु भाषा चयन उपकरण इन-हाउस विकसित किया है। यह स्विचिंग पैनल प्रस्तावित प्रदर्शनी में एलईडी डिस्प्ले से जुड़ा होगा और तीन भाषाओं में से किसी भी एक (अंग्रेजी, हिंदी और गुजराती) वीडियो को चलाने के लिए उपयोगकर्ताओं को विकल्प प्रदान करेगा। डेकू में सैटकॉम नेटवर्क मॉनिटरिंग सुविधा से डेकू नियमित रूप से इसरो के टेलीमेडिसिन कार्यक्रम का मानीटरण कर रहा है। इस संबंध में, डेकू में उपग्रह के माध्यम से लाइव वीडियोकांफ्रेंस को इस्ट्रैक, बेंगलुरु में टेलीमेसिसन हब के प्रतिनिधियों और डेकू के सैटकॉम मॉनिटरन सुविधा के अधिकारियों के साथ आयोजित किया गया था।

इस सप्ताह के दौरान लगभग 20 टेलीमेडिसिन परामर्श हुए। आमतौर पर परामर्श के लिए 10 से 15 रोगियों को लाभ मिलता है ।

पुराने एनालॉग वीडियो टेप से कई कार्यक्रमों को प्राप्त किया गया है। इन वीडियो को डिजिटल स्वरूप में बदल कर संग्रहीत किया जा रहा है। हाल ही में, इस हफ्ते के दौरान 225 कार्यक्रमों को इन-हाउस डिजिटल संपदा प्रबंधन (डीएएम) प्रणाली से प्राप्त कर संग्रहित कर लिया गया था।