National Emblem
ISRO Logo

अंतरिक्ष विभाग
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन

लोक सूचना : सावधान : नौकरी पाने के इच्छुक उम्मीदवार

वर्तमान ई-प्रापण साइट का नई वेबसाइट में रूपांतरण करना प्रस्तावित है। सभी पंजीकृत/नये विक्रेताओं से नई वेबसाइट https://eproc.isro.gov.in का अवलोकन करने तथा इसरो केंद्रों के साथ भाग लेने के लिए अपने प्रत्यय-पत्र का वैधीकरण करने का अनुरोध किया जाता है।
वर्ष 2021-22 के लिए स्नातक एवं तकनीशियन प्रशिक्षु (प्रस्तुति की अंतिम तिथि 20.07.2021 है।)
राष्ट्रीय अंतरिक्ष परिवहन नीति – 2020 का मसौदा

सी.पी.एम.

आवेशित कणों की संसूचना हेतु आवेश सुग्राही पूर्व-प्रवर्धक सहित सी.पी.एम. एक प्रस्‍फुरणक प्रकाश डायोड संसूचक (एस.पी.डी.) है। हालॉंकि उपग्रह की कक्षीय आनति 6 डिग्री या उससे भी कम होती है, उपग्रहों का करीबन 2/3 कक्षाओं में दक्षिण एटलांटिक असंगति (एस.ए.ए.) क्षेत्र में महत्‍वपूर्ण समय (15-20 मिनट) बिताता है, जिसमें निम्‍न ऊर्जा प्रोटोन तथा इलेक्‍ट्रॉन के उच्‍च अभिवाह होते हैं। जब उपग्रह एस.ए.ए. क्षेत्र में प्रवेश करता है तब संसूचकों की क्षति को रोकने के लिए तथा अनुपातिक काउंटरों में इनके बढ़ते हुए प्रभावों को कम करने के लिए सी.पी.एम. से प्राप्‍त आँकड़ों को प्रयोग करते हुए, उच्‍च वोल्‍टेज को कम कर दिया जाता है या बंद कर दिया जाता है।

नीतभार का भार करीबन 2 कि.ग्रा. है।

यह यंत्र टाटा आधारभूत अनुसंधान संस्‍थान (टी.आई.एफ.आर.), मुंबई द्वारा निर्मित है।