National Emblem
ISRO Logo

अंतरिक्ष विभाग
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन

लोक सूचना : सावधान : नौकरी पाने के इच्छुक उम्मीदवार

यू.आर.राव उपग्रह केंद्र (यू.आर.एस.सी), अं‍तरिक्ष विभाग, इसरो, बेंगलूरु में प्रतिनियुक्ति के आधार पर वेतन मैट्रिक्‍स (7वां केंद्रीय वेतन आयोग) के स्‍तर 14 में नियंत्रक के पद की भर्ती (आवेदन की अंतिम तिथि है: 15/11/2021)
चंद्रयान-2 विज्ञान आंकड़ा उपयोगीता के लिए अवसर की घोषणा। प्रस्ताव प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि 31 अक्तूबर 2021 है।
वर्तमान ई-प्रापण साइट का नई वेबसाइट में रूपांतरण करना प्रस्तावित है। सभी पंजीकृत/नये विक्रेताओं से नई वेबसाइट https://eproc.isro.in का अवलोकन करने तथा इसरो केंद्रों के साथ भाग लेने के लिए अपने प्रत्यय-पत्र का वैधीकरण करने का अनुरोध किया जाता है।

उपग्रह समर्थित खोज व बचाव

निम्‍न भू-कक्षा खोज व बचाव (लियोसार) उपग्रह तंत्र द्वारा विपत्ति चेतावनी व स्थिति निर्धारण सेवा प्रदान करने के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय कॉस्‍पास-सारसैट कार्यक्रम का भारत एक सदस्‍य राष्‍ट्र है। इस कार्यक्रम के तहत भारत के स्‍थानीय प्रयोक्‍ता टर्मिनलों (एलयूटी) को लखनऊ व बैंगलोर में स्‍थापित किया गया है। भारतीय मिशन नियंत्रण केन्‍द्र (आरएनएमसीसी) इस्‍ट्रैक, बेंगलूरु में स्थिति है। यह व्‍यवस्‍था गत 23 वर्षों से संचालित हो रही है।

93.5 डिग्री पूर्व में स्थित इन्‍सैट-3ए तथा 82 डिग्री पूर्व में स्थित इन्‍सैट-3डी में 406 मैगा हर्टज़ पर कार्यरत खोज व बचाव पेलोड लगाए गए हैं, जो समुद्री, हवाई तथा स्‍थलीय प्रयोक्‍ताओं के विपत्ति बीकन संकेतों को पकड़ कर उन्‍हें प्रसारित करते हैं।

भारतीय स्‍थानीय प्रयोक्‍ता टर्मिनल हिन्‍द महासागर क्षेत्र के एक विशाल भाग को अवृत्‍त कर बांग्‍लादेश, भूटान, मालद्वीप, नेपाल, सेशेलन, श्रीलंका तथा तंजानिया को विपत्ति चेतावनी सेवा उपलब्‍ध करा रहे हैं। भारतीय मिशन नियंत्रण केन्‍द्र/स्‍थानीय प्रयोक्‍ता टर्मिनल प्रचालन के लिए निधियां इसमें शामिल एजेन्सियों यथा:, तट रक्षक, भारतीय विमानपत्‍तन प्राधिकरण (एएआई), नौ परिवाहन महानिदेशालय व सेना द्वारा उपलब्‍ध कराई जाती है।

Development of indigenous search and rescue beacons has been completed, and is now under qualification phase through international agencies.

During the year 2013, INMCC provided search and rescue support to 14 distress incidents in Indian service area through Indian system and contributed to saving 94 human lives.

During 2013, about 962 new radio beacons were added in Indian database (most of them for maritime applications). Till date, there are about 716 registered user agencies (Maritime & Aviation) in India with an Indian beacon population of more than 13,636 in our database.

INSAT-3D, the advanced metrological satellite located at 82 deg East longitude carries a Search and Rescue (SAR) Payload. The satellite was launched on July 26, 2013 and the in-orbit-testing of SAR payload was completed in Aug 2013. INSAT-3D will provide the continuity to SAR service.