National Emblem
ISRO Logo

अंतरिक्ष विभाग
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन

लोक सूचना : सावधान : नौकरी पाने के इच्छुक उम्मीदवार

यू.आर.राव उपग्रह केंद्र (यू.आर.एस.सी), अं‍तरिक्ष विभाग, इसरो, बेंगलूरु में प्रतिनियुक्ति के आधार पर वेतन मैट्रिक्‍स (7वां केंद्रीय वेतन आयोग) के स्‍तर 14 में नियंत्रक के पद की भर्ती (आवेदन की अंतिम तिथि है: 15/11/2021)
चंद्रयान-2 विज्ञान आंकड़ा उपयोगीता के लिए अवसर की घोषणा। प्रस्ताव प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि 31 अक्तूबर 2021 है।
वर्तमान ई-प्रापण साइट का नई वेबसाइट में रूपांतरण करना प्रस्तावित है। सभी पंजीकृत/नये विक्रेताओं से नई वेबसाइट https://eproc.isro.in का अवलोकन करने तथा इसरो केंद्रों के साथ भाग लेने के लिए अपने प्रत्यय-पत्र का वैधीकरण करने का अनुरोध किया जाता है।

भूस्‍खलन

तैयारी

भूस्‍खलन से अपार क्षति होती है, विशेषकर तीर्थस्‍थल के मार्गों में। इसरो द्वारा हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड एवं मेघालय में तीर्थस्‍थल के मार्गों में तीर्थयात्रियों हेतु भूस्‍खलन जोखिम क्षेत्र मानचित्र तैयार किए गए। इसके अतिरिक्‍त, इसरो द्वारा नियमित आधार पर ऋतुनिष्‍ठ भूस्खलन सूची भी तैयार की जा रही है। ये उपग्रह आधारित सूचनाएं तैयारी हेतु बहुत लाभदायक हैं।

 

पूर्व चेतावनी

वर्षा प्रेरित भूस्‍खलनों हेतु परीक्षणात्‍मक भूस्‍खलन पूर्व चेतावनी प्रणाली कार्य विशिष्‍ट ऋतुओं के दौरान उत्तराखण्‍ड में ऋषिकेष-बद्रीनाथ, ऋषिकेश-उत्तरकाशी-गोमुख, चमोली-ओखीमठ, रूद्रप्रयाग-केदारनाथ एवं पिथौरागढ़ - माल्‍पा नामक मार्गों के लिए पूरा किया है।

 

प्रतिक्रिया

भूस्‍खलनों पर निकट वास्‍तविक समय सूचना देश में प्रमुख भूस्‍खलन घटनाओं के दौरान नियमित रूप से व्‍युत्‍पन्‍न की जाती हैं और भुवन भूपोर्टल के माध्‍यम से वितरित की जाती हैं। भूस्‍खलन की क्षेत्रीय सीमा का भी उपग्रह आँकड़ा एवं डी.एस.एम. का उपयोग करते हुए आंकलन किया जाता है। इसके अतिरिक्‍त, भूस्‍खलन के कारण नदियों के अवरोध के बारे में समय-समय पर सरकार को आवश्‍यक जानकारी मुहैया कराई जाती है।