आईयूसीएए, पुणे में एस्ट्रोसैट सहायता सेल (एएससी) स्थापित किया गया है

28 सितंबर 2015 को प्रमोचन किए गए एस्ट्रोसैट मिशन ने 15 अप्रैल, 2016 से अपना प्रदर्शन सत्यापन पूरा कर लिया है और विज्ञान प्रचालन शुरू कर दिया है। उपकरण टीमों के लिए निश्चित समय पर अवलोकनों का  चरण वर्तमान में चल रहा है। अक्टूबर 2016 से, वेधशाला अभिगम भारतीय विज्ञान समुदाय से अतिथि पर्यवेक्षकों के लिए खुलेगा। समेकित प्रस्तावों के आधार पर अवलोकन समय दिया जाएगा।

इसरो, इंटर-युनिवर्सिटी सेंटर फॉर एस्ट्रोनॉमी एंड एस्ट्रोफिजिक्स (आईयूसीएए) के सहयोग से, पुणे ने प्रस्ताव बनाने की प्रक्रिया की सुविधा के लिए और एस्ट्रोसैट डेटा का इस्तेमाल करने के लिए एस्ट्रोसैट सहायता कक्ष (एएससी) की स्थापना की गई है । यह सेल आईयूसीएए के बाहर काम करेगा और स्रोत सामग्री, उपकरण, प्रशिक्षण और अतिथि अवलोककों को सहायता प्रदान करेगा। (http://astrosat-ssc.iucaa.in)वेबसाइट स्थापित की गई है जिसमें एस्ट्रोसैट प्रस्ताव प्रसंसाधान प्रणाली(एपीपीएस), एक्सपोजर टाइम और विज़िबिलिटी कैलकुलेटर के लिए एक पोर्टल है। साइट डाउनलोड करने योग्य प्रस्ताव सहायता उपकरण, उपकरण प्रतिक्रिया कार्यों, एस्ट्रोसैट उपकरण और विश्लेषण सॉफ्टवेयर के नमूना डेटा भी प्रदान करती है।

एस्ट्रोसैट सहायता सेल की गतिविधियों में, एपीपीएस के दीर्घकालिक समर्थन और रखरखाव, प्रस्ताव और डेटा से संबंधित प्रश्नों के लिए सहायता डेस्क चलाना और कार्य तैयारी के लिए प्रस्ताव तैयारी और डेटा विश्लेषण तकनीकों के साथ उपयोगकर्ताओं को परिचित कराना शामिल होगा। आईयूसीएए में हर साल दो लंबी अवधि की कार्यशालाएं आयोजित करने और देश के विभिन्न हिस्सों में कई छोटी अवधि की कार्यशालाएं आयोजित करने की योजना है।

05 मई, 2016 को एस्ट्रोसैट सहायता सेल के प्रचालन के लिए इसरो और आईयूसीएए के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए हैं।